Mere Samne Wali Khidki Mein / मेरे सामने वाली खिडकी में एक चाँद का टुकड़ा रहता है

Mere Samne Wali Khidki Mein / मेरे सामने वाली खिडकी में एक चाँद का टुकड़ा रहता है

Mere Samne Wali Khidki Mein / मेरे सामने वाली खिडकी में एक चाँद का टुकड़ा रहता है / harmonium notations

मेरे सामने वाली खिड़की में
एक चाँद का टुकड़ा रहता है
अफसोस ये है कि वो हम से
कुछ उखड़ा उखड़ा रहता है

जिस रोज़ से देखा है उस को
हम शमा जलाना भूल गए
दिल थाम के ऐसे बैठे हैं
कहीं आना जाना भूल गए
अब आठ पहर इन आँखों में वो चंचल मुखड़ा रहता है

बरसात भी आकर चली गयी
बादल भी गरज कर बरस गए
पर उस की एक झलक को हम
ऐ हुस्न के मालिक तरस गए
कब प्यास बुझेगी आँखों की दिनरात ये दुखडा रहता है

 

#SunilDutt #KishoreKumar #SairaBanu

 
 

Mere Samne Wali Khidki Mein Lyrics
Mere saamane waali khidki men
Ek chaand ka tukada rahata hai
Afasos ye hai ki wo ham se
Kuchh ukhada ukhada rahata hai

Jis roz se dekha hai us ko
Ham shama jalaana bhul ge
Dil thaam ke aise baithhe hain
Kahin ana jaana bhul ge
Ab athh pahar in ankhon men wo chnchal mukhada rahata hai

Barasaat bhi akar chali gayi
Baadal bhi garaj kar baras ge
Par us ki ek jhalak ko ham
Ai husn ke maalik taras ge
Kab pyaas bujhegi ankhon ki dinaraat ye dukhada rahata hai

Leave a Reply

seventeen − eight =

Close Menu